वनपाल क्या होता है Forest Ranger वनपाल का क्या काम होता है

इस पोस्ट में हम जानेंगे की Vanpal Kya Hota Hai, वनपाल का क्या काम होता है, वनपाल कौन है, वनपाल किसे कहते है, वनपाल कैसे बने और वनपाल के क्या कार्य होते है. यदि आप वनपाल बनना चाहते है तो उससे सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी आप इस पोस्ट में पढ़ सकते है.

वनपाल क्या होता है Forest Ranger वनपाल का क्या काम होता है

Vanpal Kya Hota Hai

वनपाल को ही वन रछक या Forest Ranger कहते है. वनपाल का कार्य वनों की रक्षा करना होता हैं एवं वनपाल वनों में हो रही illegal गतिविधियों का ध्यान रखते है. वनपाल अधिकारी की एक महत्वपूर्ण भूमिका होती है.

वनपाल को हर समय जंगल की सुरक्षा के लिए चौकन्ना रहना पड़ता है और जंगल में होने वाली हर मुसीबत और चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. 

वनपाल का क्या काम होता है

वनपाल की नौकरी करने वाले लोगों के निम्नलिखित कार्य होते है.

  • Protect Natural Resources
  • Tree Plantation
  • Face Wild Animals
  • Forest Fire Prevention
  • Poachers, Encroachers,  Smugglers, Mafias
  • Human-wildlife Conflict

Protect Natural Resources:- वनपाल वनों के प्राकृतिक संशाधनो और वनभूमि की रक्षा करते है.

Tree Plantation:- बंजर भूमि पर पोधो को लगाने Tree Plantation की अनुमति वनपाल ही देते है.

Face Wild Animals:- वनपाल जंगली जानवरों से हो रही हानि को रोकते है

Forest Fire :- वनों  में लग रही आग को काबू में लाने का काम वनपाल करते है

Poachers, Encroachers, Smugglers, Mafias :- वनपाल वनों को Poachers (शिकारी), Encroachers (कब्ज़ा करने वाले), Smugglers (तस्करों), Mafias (माफिया) से बचाते है

Human-Wildlife Conflict :- वनपाल जंगली जानवरों से मानव जीवन की रक्षा करते है.

Vanpal Kya Hai

Vanpal एक तरह का जीवविज्ञानी होता है जो वनों के प्राक्रतिक संशाधनो की और वनभूमि की रक्षा करता है. वनपाल वनों में हो रही गतिविधियों का ध्यान रखते है जो लोग वनों में काम करना पसंद करते है उनके लिए वानिकी job बहुत अच्छा अवसर है.

इस तरह की Job में व्यक्ति को field में रहना होता है. जिन लोगो को Nature पसंद होता है वे लोग भी इस तरह की job कर सकते है वनपाल को अपना अधिकांश समय वन में ही बिताना पड़ता है.

Vanpal Me Kya Hota Hai Kaam Ki Jankari

वनपाल और वनरक्षकों से वनमंडल कार्यालय में काम लिया जाता है वनपाल ज्यादातर काम दफ्तर के बाहर फिल्ड पर करते है इन कर्मचारियों को फील्ड पर होने के लिए हर महीने के आखिरी सप्ताह में certificate दिया जाता है.

जिसके आधार पर कर्मचारियों का वेतन बनता है. वनपाल को जंगल के सभी area की जानकारी होती है वनों में हो रही कटाई को रोकना और शिकारियों से वन्य जीवो की रक्षा करने का काम वनपाल का होता है.

Vanpal Kaise Bane

वनपाल बन्ने के लिए यूनिवर्सिटी से Graduation पास करना होगा ग्रेजुएशन पास करने के बाद वनपाल की जॉब के लिए आवेदन करना होगा. वन विभाग समय-समय पर वनपाल की भर्ती के लिए सुचना जारी करती है जब वनपाल की भर्ती निकलती है, उस समय आवेदन (Apply) करना होता है.

यदि आप वनपाल या फोरेस्ट रेंजर बनना चाहते है निचे दी गई लिंक पर क्लिक करके apply करे.

फॉरेस्ट रेंजर कैसे बने 

वनपाल को ही फोरेस्ट रेंजर कहते है फोरेस्ट रेंजर बन्ने के लिए ग्रेजुएशन होने के साथ ही साथ वन विभाग की जानकारी होना भी जरुरी है. जिस भी राज्य व देश में वह रेंजर बनना चाहता है. वह उसी प्रदेश का निवासी होना चाहिए.

Physics, chemistry, विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, जीव जंतु विज्ञान, वानिकी विज्ञान, कृषि बागवानी एवं पर्यावरण विज्ञान में से किसी भी दो विषय के साथ डिग्री का होना बहुत जरूरी है. इसके अलावा एग्रीकल्चर, इंजीनियर और साइंस में बैचलर डिग्री जिनके पास होती है वह भी आवेदन कर सकते है.

कई बार कुछ भर्तीयो में अलग-अलग तरह की शैक्षणिक योग्यता की मांग की जाती है इसलिए इनका भी विशेष ध्यान रखना चाहिए.

आवेदक शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए उनकी हाइट 163 सेंटीमीटर होनी चाहिए. यदि महिला आवेदक है तो उसकी Height 150 CM होनी चाहिए.

वन विभाग में रेंजर बनने के लिए आवेदक की आयु 18 से 30 वर्ष तक होनी चाहिए. इसमें अनुसूचित जाति और जनजाति आवेदकों के लिए 5 वर्ष की छूट दी गई है.

Vanpal FAQ

वनपाल किसे कहते हैं

वनों की रक्षा करने वाले सरकारी कर्मचारियो को वनपाल कहते है.

वनपाल बन्ने के लिए आयु में छुट कितनी होनी चाहिए

वनपाल बनने के लिए SC, ST के लिए 5 year की छुट दी गई है.

वनपाल बन्ने के लिए age कितनी होनी चाहिए 

वनपाल बनने के लिए age 18 से 30 वर्ष होनी चाहिए.

वनपाल क्या करता है

वनपाल वनों की रक्षा करता है.

वनपाल की सैलरी कितनी है

वनपाल की सैलरी 5200 से  20200 तक होती है

वनपाल परीक्षा कब होती है

वनपाल की परीक्षा मार्च में होती है