उधमी कौन है – उधमी के कार्य एवं उनकी विशेषता

आज आप इस पोस्ट में जानेंगे के लिए Udyami Kaun Hai और Udyami Ke Karya, उद्यमी की विशेषता, उधमी की परिभाषा, उधमी के प्रकार एवं उधमी से सम्प्बंधित सम्पूर्ण जानकारी आप इस पोस्ट में पढ़ सकते है.

उधमी कौन है – उधमी के कार्य एवं उनकी विशेषता

Udyami Kaun Hai

उधमी वह व्यक्ति होता है जो बड़े कारखाने या किसी उधोग का मालिक होता है इसे उधोगपत्ती भी कहते है उधमी  Risk लेकर नए Business का निर्माण करता है इसे अंग्रेजी भाषा में Entrepreneur कहते है एक उद्यमी वह होता है जो हमेशा नए अवसर खोजता रहता है और नए परिवर्तन की खोज करता है

उधमी बनना Risk का काम होता है इश्मे कोई भी सुनिश्चितता नहीं होती है इनका कोई बिमा भी नहीं होता है इन्हें लाभ भी हो सकता है या हनी भी हो सकती है उधमी के पास गारंटी के लिए तीन गुण होते है क्षमता, इच्छा और शक्ति.

Udyami Ke Karya

उधमी के निम्नलिखित कार्य होते है जो इस प्रकार है.

  • ये बाजार के अवसरों का आकलन करते है
  • अवसर मानचित्र के लिए सही विचार पर पहुंचना
  • ये बिजनेस मॉडल डिजाइन करते है
  • व्यवसाय योजना लिखते और बनाते है
  • आवश्यक संसाधनों का निर्माण करते है
  • उधमी एक तरह का विक्रेता होता है 
  • मार्केट की जरुरत के हिसाब से ये अपने व्यवसाय का निर्माण करते है
  • व्यापार बढाने का काम भी उधमी का ही होता है

उद्यमी की विशेषता

उधमी की विशेषताए इस प्रकार है.

  1.  उधमी जोखिम उठाने की क्षमता रखते हैं
  2. इनका किसी भी काम को करने की anergy बहुत होती है
  3. उधमी के पास आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान कूट – कूट कर भरा हुआ होता है
  4. उधमी नेटवर्किंग में अच्छे होते है
  5. उधमी का द्रष्टिकोण सकारात्मक होता है
  6. उधमी की इच्छा सकती बहुत मजबूत होती है
  7. उधमी बाधाओ से कभी घवराते नहीं है सभी चिनोतियो का सामना करते है
  8. उधमी बहुत कुसल और अपने काम में माहिर होते है
  9. उधमी सिखने के अवसरों को तलास करता है और इनकी गलतिय
उद्यमी की परिभाषा

लाभ कमाने की इच्छा रखना, कुछ नया करना, योजनाबद्ध रूप से कार्य करना, जोखिम (Risk) लेना, अनिश्चितता में कार्य करना, नये अवसरों (Chance) की खोज करना, सीखने की प्रवृत्ति रखना, उधोग की प्रगति, विकास एवं विस्तार करना, अवसरों की खोज करना, संसाधनों (मानव, मशीन, समय, जानकारी, सामग्री एवं धन) को आयोजित करना, समय-समय पर नवविचारो एवं बदलावों को लागू करना उधमी होता है

Udyami Ke Prakar

उधमी कई प्रकार के होते है जो इस प्रकार है.

छोटे उपक्रम : छोटे उद्यम वे होते है जिनमें मालिक अपनी कंपनी चलाता है और कुछ कर्मचारियों के साथ काम करता है वे उसके अपने परिबार के व्यक्ति भी हो सकते है इनमे किराने की दुकान, हेयरड्रेसर, बढ़ईगीरी, प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन जैसे व्यवसाय  आते है.

स्केलेबल प्रोजेक्ट: स्केलेबल उद्यम शुरुआत में छोटी कंपनियां होती हैं, लेकिन वे अपने काम से उसे उच्च सिखर पर पंहुचा देते है ये थोड़े ही समय में विकास कर लेते है उद्यम जो वर्तमान में बहुत विकसित हो रहे हैं.

बड़े उद्यम: ये वो उधम होते है जिनमे बड़ी कंपनिया आती है ये विकसित होने के लिए अपने business में नए आइडिया और नवनिर्माण करते रहते है ये अपने business को बढाने की जी जान लगा देते है.

सामाजिक उपक्रम: ये समाज में विकास करने का काम करते है जिनका उद्देश्य शिक्षा, मानव अधिकार, स्वास्थ्य और पर्यावरण के क्षेत्र में नव्बिचार लाने का काम होता है ये किसी भी तरह की गलत गतिविधियों का इस्तेमाल नहीं करते है.

निजी उद्यमिता: ये निजी पूंजी के माध्यम से विकसित होते है.

व्यक्तिगत उद्यमिता : व्यक्तिगत उद्यमिता एक व्यक्ति या एक परिवार द्वारा विकसित  होती है.

Udyami से सम्बंधित – FAQ

Udyami Kon Hai

Udyami किसी बड़े उधोग या दुकान का मालिक होता है.

Udyami Ka Arth Kya Hai

उद्यमी का अर्थ व्यापारी या उधोगपति होता है.

अगर आपको हमारी यह Udyami Kaun Hai एवं Udyami Ke Karya पोस्ट अच्छी लगी तो इसे शेयर करे एवं इससे जुड़े अन्य पोस्ट भी पढ़े. अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment करके पूछ सकते है