SHO क्या है – SHO कैसे बने – पुलिस निरक्ष के कार्य

आज आप इस पोस्ट में जानेंगे की SHO Kon Hota Hai और SHO Kaise Bane SHO का full form, SHO के कार्य एवं यदि आप SHO बनना चाहते है तो आप उससे सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में पढ़ सकते है

Sho Kon Hota Hai और Sho Kaise Ban

SHO Full Form

SHO का full form Station House Officer होता है SHO को हिंदी में पुलिस निरक्षक कहा जाता है SHO को स्टेशन इन्चार्च भी का सकते है

SHO Kon Hota Hai

SHO एक सरकारी अधिकारी होता है जिसे स्टेशन इंचार्ज कहते है SHO कानून व्यवस्था बनाये रखने में अपना विशेष योगदान देते है SHO के पास अपने क्षेत्र में व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी तरह के अधिकार दिए जाते है station house officer की uniform में 3 स्टार की पट्टी लगी होती है SHO किसी भी पुलिस स्टेशन का मुख्य अधिकारी मना जाता है SHO पुलिस स्टेशन के सभी कार्यो पर अपनी नजर रखता है

Sho के अंडर में एसआई, कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल काम करते है station house officer का पद Sub Inspector के उपर एवं superintendent of police के पद के निचे आता है station house officer, superintendent of police का junior होता है Sho अपने क्षेत्र में अपराधो की जाँच एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, एवं Sub Inspector के साथ टीम बनाकर काम करता है Sho को अपने क्षेत्र में हो रहे अपराधिक मामलो के सम्बन्ध में अदालत में उपस्थित होने का अधिकार होता है

SHO Kaise Bane

  • SHO बनने के लिए दो प्रकार की प्रक्रिया होती है जिसमे एक परीक्षा के द्वारा होती है जिसमे सीधी भर्ती होती है परन्तु यह परीक्षा कई राज्यों में नहीं होती है एवं दूसरी प्रक्रिया में विभाग के बड़े अधिकारियो के द्वारा promotion किया जाता है SHO के लिए अलग से भर्ती बहुत कम निकलती है
  • पुलिस स्टेशन में ही पुलिस इंस्पेक्टर को ही SHO बना दिया जाता है इनकी uniform पर तीन स्टार लगे होते है और निचे लाल नीले रंग की पट्टी लगी होती है ASI की uniform पर एक स्टार होता है एवं sub inspector की uniform पर दो स्टार होते है ASI और Sub inspector को भी Sho बना दिया जाता है
  • सीधी भर्ती के माध्यम से भी कोई भी व्यक्ति Sho बन सकता है इस परीक्षा में चयन के लिए राज्य सरकार के पुलिस विभाग आयोग द्वारा विज्ञापन निकाला जाता है जिसके बाद उमीदवार इस परीक्षा के लिए online आवेदन दे सकता है
  • आवेदन form भरने के बाद कुछ महीनो के बाद विभाग द्वारा परीक्षा करवाई जाती है इस परीक्षा में objective type प्रश्न पूछे जाते है जोभी विधार्थी इस परीक्षा में पास होता है उसे फिजिकल टेस्ट भी देना होता है फिजिकल टेस्ट के बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन होता है डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन में विधार्थी के डाक्यूमेंट्स की जाँच की जाती है
  • डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के बाद पोस्ट के अनुसार विधार्थियों की लिस्ट बनाई जाती है जिसके बाद उन विधार्थियों का फ़ाइनल चयन होता है
SHO Ke Liye Syllabus

SHO परीक्षा SSC के द्वारा कराइ जाती है इस परीक्षा के लिए विधार्थी से हिंदी और अंग्रेजी विषय के प्रश्न पूछे जाते है यह परीक्षा objective type होती है एवं यह offline भी हो सकती है

SHO Ke Karya

SHO के कई तरह के कार्य होते है जो इस प्रकार है

  • SHO का कार्य अपने क्षेत्र में हो रही गतिविधियों का ध्यान रखना होता है
  • SHO कानून और व्यवस्था बनाये रखता है और यह अपराधिक गतिविधियों की जाँच भी करता है
  • SHO के अंडर काम कर रहे लोगो की सरकारी सहायता करने और उन्हें अनुशासन में रखने का काम करता है
  • SHO अपने अधिकारी क्षेत्र में पैट्रोलिंग की व्यवस्था करता है
  • station house अधिकारी अपने क्षेत्र में हो रहे अपराधो की जाँच करता है और पुलिस स्टेशन की तरफ से अदालत में उपस्थित होता है
  • SHO का काम Antisocial Elements और Bad Characters पर ध्यान देना और उसकी सिकायत उससे वरिष्ठ अधिकारियो से करना होता है
  • SHO का काम पुलिस के दायित्वों और उनकी क्षमताओ के आंकड़ो का वर्गीकरण करना होता है
Sho से सम्बंधित – FAQ

SHO Ki Salary Kitni Hai

SHO की सैलरी 60000 से 75000 के मध्य होती है

SHO का पूरा नाम क्या होता है 

SHO का पूरा नाम station house officer होता है

अगर आपको हमारी यह SHO Kon Hota Hai एवं SHO Kaise Bane पोस्ट अच्छी लगी तो इसे शेयर करे एवं इससे जुड़े अन्य पोस्ट भी पढ़े. अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment करके पूछ सकते है