Sankhyiki Vibhag क्या है – सांख्यिकी विभाग भर्ती

इस आर्टिकल में आप पढ़ेंगे की सांख्यिकी विभाग क्या है, सांख्यिकी विभाग की भर्ती कब होती है, सांख्यिकी विभाग के काम क्या है, सांख्यिकी विभाग अधिकारी क्या होता है सांख्यिकी विभाग से जुड़े सारी जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलेगी.

Sankhyiki Vibhag क्या है-सांख्यिकी विभाग भर्ती

Sankhyiki Vibhag Kya Hai

सांख्यिकी विभाग केंद्रीय सरकार का विभाग है यह भारत सरकार का एक भाग है जो भारत में सारे कामों का डाटा एक इकट्टा रखता है .इस विभाग का काम होता है जनगणना करवाना .यह वह शाखा है जिसमें आंकड़ों का संग्रह, प्रकाशन, वर्गीकरण और उसके गुणों का आकलन किया जाता है.

सांख्यिकी विभाग का देखा जाए तो डाटा के संग्रह का काम करता है डाटा को किस प्रकार से इकट्ठा करना है कहां पर अनुमान लगाना है सांख्यिकी विभाग में डाटा का अध्ययन किया जाता है. सांख्यिकी विभाग भारत की सभ्यता में  बहुत बड़ा रोल है.
प्राचीन काल से ही सांख्यिकी विभाग का महत्व बहुत ज्यादा  है भारत के डाटा रखने के लिए सांख्यिकी विभाग महत्वपूर्ण विभाग हैं.

Sankhyiki Vibhag Bharti

सांख्यिकी विभाग में भर्ती के लिए भारत सरकार के द्वारा नोटिस निकाला जाता है और भारत सरकार में एक अलग से विभाग हैं जो अपने विभाग के लिए नौकरी निकालता है .

इसके लिए अखबार और सांख्यिकी विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर नोटिस निकाला जाता है जिसमें जाकर आप अपनी योग्यता के अनुसार भर्ती देख सकते हैं.
संख्यिकी विभाग में जॉब पाने के लिए आपको सांख्यिकी से मास्टर डिग्री या  ग्रेजुएशन करना पड़ेगा तभी जाकर आप सांख्यिकी के लिए अप्लाई कर पाएंगे और आप की भर्ती हो पाएगी.

Sankhyiki Vibhag Ke Karya

सांख्यिकी विभाग के निम्न कार्य है

  • देश में सांख्यिकी प्रणाली के सुनिश्चित विकास के लिए नोडल एजेंसी बनाना.
  • भारत सरकार के मंत्रालय और राज्य सांख्यिकी ब्यूरो के संबंध में काम करना.
  • सांख्यिकी के क्षेत्र में मापदंड और मानक निर्धारित करना.
  • खाली पद पर नए लोगों की नियुक्ति करना
  • संख्या की विभाग के विकास के लिए काम करना
  • संख्या कि विभाग को आगे बढ़ाने के लिए नए-नए प्रयोग करना
  • भारत सरकार के लिए डाटा का संग्रह करना
सहायक सांख्यिकी अधिकारी क्या है

सांख्यिकी अधिकारी जिला लेबल का अधिकारी होता है और यूपीएससी के द्वारा सांख्यिकी अधिकारी जो बनते हैं वह कलेक्टर लेवल के अधिकारी होते हैं जिसे सरकार के द्वारा नियुक्ति दी जाती है.

सांख्यिकी अधिकारी का काम होता है उस जिले में जनसंख्या की गणना करना ,जिले से संबंधित सारे डेटा को इकट्ठा करके उसका रिकॉर्ड रखना.

जिले में होने वाले समस्त काम की सूची बनाकर उनका एक डाटा तैयार करना. सांख्यिकी अधिकारी के साथ में 4-5 सहायक अधिकारी होते हैं जो मुख्य सांख्यिकी अधिकारी की सहायता के लिए दिए जाते हैं सांख्यिकी अधिकारी सरकारी अधिकारी होता है.

सांख्यिकी विभाग भारत सरकार

सांख्यिकी विभाग भारत सरकार का एक विभाग है जो सांख्यिकी मंत्रालय के अंतर्गत आता है इसमें बहुत सारे काम होते हैं सांख्यिकी अधिकारी आईएएस के द्वारा (इंडियन स्टैटिक्स सर्विसेज ) Indian Statistical Service बनाया जाता है. जो एक जिला लेवल अधिकारी होता है.

और सांख्यिकी मंत्री भी होता है जो समस्त राज्य के डाटा का हिसाब किताब रखता है और सारे काम बड़े ही आसानी से करवाता है सांख्यिकी विभाग एक बहुत महत्वपूर्ण विभाग हैं.

क्योंकि अगर डाटा सही रहेगा तो देश आगे बढ़ेगा अगर डाटा सही नहीं रहेगा तो दिक्कतें आएंगी और देश की ग्रोथ नहीं हो पाएगी इसलिए सांख्यिकी अधिकारी का रोल देश में बहुत अहम हो जाता है.

सांख्यिकी अधिकारी सैलरी

सांख्यिकी अधिकारी की सैलरी लगभग 35000 से 50000 तक हो सकती है.

सांख्यिकी विभाग का अर्थ

सांख्यिकी गणित की वह शाखा है जिसमें आकडों का संग्रहण ,वर्गीकरण, प्रदर्शन, उनके गुणों पर लागू होता है इसमें प्राकृतिक विज्ञान, सामाजिक विज्ञान ,सरकार और व्यापार आदि है.

सांख्यिकी विभाग का मतलब

सांख्यिकी सभ्यता की गति में अंको का योगदान बड़ा ही महत्वपूर्ण है अंक पद्धति का विकास के लिए भारत को सर्व श्रेष्ठ माना जाता है.