Governor कौन होता है – राज्यपाल कौन होता है-राज्यपाल के कार्य,शक्तियां – राज्यपाल का वेतन

इस आर्टिकल में आप पढेगे की गवर्नर कौन होता है, गवर्नर के कार्य क्या होते हैं, गवर्नर की नियुक्ति कौन करता है, राज्यपाल के कार्य क्या होते हैं आदि. गवर्नर से जुड़ी हुई सारी जानकारी इस पोस्ट में आपको मिलेगी.

Governor कौन होता है – राज्यपाल कौन है

Governor Kon Hota Hai

गवर्नर को हम राज्यपाल भी कह सकते हैं.राज्यपाल वह होता है जिसे सरकार के द्वारा किसी भी राज्य का और राज्यपाल नियुक्त कर दिया जाता है राज्यपाल का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है.

जिसे राष्ट्रपति के द्वारा नियुक्त किया जाता है यह जिस राज्य में नियुक्त होता है उस राज्य का प्रधान होता है.जिसकी सहमति से मुख्यमंत्री कोई भी निर्णय ले सकता है.

राज्यपाल किसी भी फैसले के लिए मना कर सकता है तो मुख्यमंत्री फैसला नहीं ले सकते हैं. राज्यपाल की अनुमति हर कार्य में लेना जरूरी होता है बिना राज्यपाल की अनुमति के राज्य में कोई भी बड़ा कार्य नहीं हो सकता है.

कोई भी संविधान बनता है और अपना कोई संशोधन करवाना होता है तो गवर्नर से सहयोग लेना होता है. जैसे केंद्र में राष्ट्रपति होता है वैसे ही राज्य मैं गवर्नर होता है.उसका चुनाव राष्ट्रपति करता है.

राज्यपाल कौन है

राज्यपाल हर राज्य में अलग-अलग होते है और समय-समय पर बदलते रहते हैं और इनका कार्यकाल फिक्स होता है इसे राष्ट्रपति के द्वारा घटाया – बढ़ाया भी जा सकता है. राज्यपाल राज्य का प्रमुख होता है. जिसकी अनुमति से ही राज्य में सारे कार्यालय, सारे कानून, सारी गतिविधियां राज्यपाल के अंतर्गत ही आती हैं.

राज्य में कोई भी फैसला लेने के लिए राज्यपाल की अनुमति लेना आवश्यक होता है. राज्यपाल किसी अनुमति के लिए मना कर देता है तो आप या सरकार या मुख्यमंत्री वह काम नहीं कर सकते हैं.

राजपाल के पास पावर होता है कि वह जिस काम को चाहे हटा सकते हैं और मना कर सकते हैं और किसी भी काम के लिए हा बोल सकते है एवं अनुमति दे सकते है.  इसलिए यह एक शक्तिशाली पद होता है.

Governor Ka Karyakal

गवर्नर का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है और इसका कार्यकाल 5 वर्ष से कम का भी हो सकता है. अगर सरकार चाहे तो 5 वर्षों से भी पहले राज्यपाल को हटाया जा सकता है.

और इसे सरकार चाहे तो आगे भी बढ़ा सकती है.गवर्नर का कार्यकाल अनुच्छेद ( Article ) – 157 में लिखा हुआ है और गवर्नर तब तक अपने पद पर रहता है जब तक उसका कोई उत्तराधिकारी इस पद को ग्रहण ना कर ले.

राज्यपाल राज्य में केंद्र का प्रतिनिधि होता है और राष्ट्रपति राज्यपाल को पद ग्रहण करवाते हैं और राष्ट्रपति राज्यपाल को कभी भी हटा सकते हैं.

राज्यपाल के कार्य एवं शक्तियां

राज्यपाल के कार्य एवं शक्तियां निम्नलिखित हैं.

  • कार्य
  1. राज्यपाल विधानसभा का सत्र शुरू कर सकता है और समय-समय पर उसका विघटन नहीं कर सकता है.
  2. राज्यपाल विधान मंडल द्वारा किसी विधेयक को कानून का रूप दे सकता है.
  3. राज्यपाल कार्यपालिका के सभी कार्य संचालित कर सकता है.
  4. राज्यपाल राज्य के सारे मंत्रियों को शपथ दिलाता है.
  5. राज्यपाल , मुख्यमंत्री की सलाह से उसकी मंत्री परिषद के सदस्य की नियुक्ति करता है.
  6. राज्यपाल राज्य के विश्वविद्यालयों का कुलपति होता है.
  7. यह उप कुलपतियों की नियुक्ति करता है.
  8. राज्यपाल राज्य के उच्च न्यायालय में न्यायाधीश की नियुक्ति के संबंध में राष्ट्रपति को सलाह देता है.
  • शक्तियां –

राज्यपाल की शक्तियां राज्यपाल की न्यायिक शक्तियां, राज्यपाल की वित्तीय शक्तियां ,राजपाल की आपातकालीन शक्तियां आदि.

Rajyapal Ko Sapath

राज्यपाल को पद ग्रहण करने से पहले राष्ट्रपति के द्वारा शपथ दिलाई जाती है .यह शपथ विधानसभा या विधान परिषद के मंत्री को अपना स्थान ग्रहण करने से पहले दिलाई जाती है.

राज्यपाल राज्य का प्रमुख होता है इसलिए राष्ट्रपति राज्यपाल को शपथ दिलाते हैं कि राज्य में होने वाले सारे दायित्वों को अच्छे से निभाएगा और राज्य में होने वाले सारी परेशानियों को दूर करेगा और अपने विवेक से राज्य को एक ऐसा राज्य बनाएगा.

राज्यपाल की नियुक्ति

राज्यपाल की नियुक्ति राष्ट्रपति के द्वारा की जाती है. राष्ट्रपति जब तक राज्यपाल की नियुक्ति के लिए अपने हस्ताक्षर नहीं करेगा तब तक राज्यपाल की नियुक्ति नहीं होगी.

गवर्नर किसे कहते हैं

राष्ट्रपति के द्वारा हर राज्य में एक राज्यपाल नियुक्त किया जाता है जो उस राज्य का मुखिया होता है. जो सरकार का प्रमुख होता है. राज्य में होने वाले सभी कामों के लिए राज्यपाल की अनुमति लेना बहुत ही जरूरी होता है. बिना अनुमति के राज्य में कोई भी निर्णय नहीं लिया जा सकता है.जो सारे निर्णय का फैसला करता है उसे राज्यपाल गवर्नर कहते हैं.

Governor Ko Hindi Mein Kya Bolte Hain

गवर्नर को हिंदी में राज्यपाल कहते हैं यह राज्य का मुख्य होता है.

Governor Kise Kahate Hain

राज्यपाल या गवर्नर ऐसे व्यक्ति को कहते हैं जो शासन के द्वारा नियुक्त किया जाता है. जो किसी भी देश के शासक के अधीन हो और यह किसी भी एक राज्य का मुखिया होता है. जो राज्य में होने वाले सारे फैसले लेता है.

राज्यपाल का वेतन कितना है

राज्यपाल का वेतन पहले 100000-110000 था. जिसे बाद मे बढ़ाकर 300000-350000 से ज्यादा कर दिया गया है.राज्यपाल किसी भी एक पूरे राज्य का प्रधान होता है.